अन्तर्राष्ट्रीय दिव्यागंजन दिवस

Social Share

दिव्यांगों को 10 स्कूटी वितरित

अजमेर, 3 दिसम्बर। अन्तर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के उपलक्ष्य में शुक्रवार को 10 दिव्यांगों को स्कूटी वितरित की गई।

     सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उप निदेशक प्रफुल्ल चन्द्र चौबीसा ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बजट घोषणा दिव्यांगों को लाभान्वित करने के संबंध में की गई थी। इसके अनुसार महाविद्यालयों में अध्ययनरत एवं स्वरोजगार कर रहे 2 हजार दिव्यांगों को स्कूटी वितरण करने का निर्णय लिया गया था। प्रथम चरण में राज्य में 53 दिव्यांगों का चिन्हीकरण किया गया था। इनमें से 10 दिव्यांग अजमेर जिले के थे। शुक्रवार को कलेक्ट्रेट परिसर में स्कूटी वितरण का कार्यक्रम आयोजित किया गया।

     उन्होंने बताया कि गांधी जीवन दर्शन समिति के संयोजक एवं पूर्व विधायक डॉ. श्रीगोपाल बाहेती, सह संयोजक शक्ति प्रताप सिंह तथा अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री कैलाश चन्द्र शर्मा ने कार्यक्रम में दिव्यांगों को स्कूटी सुपुर्द की। यह स्कूटी हीरो मोटाकॉर्प की हीरो मेस्ट्रो मॉडल की है। यह स्कूटी 110 सीसी इंजन क्षमता की है। समस्त स्कूटी को रेट्रो फिटमेण्ट के साथ देने से यह दिव्यांगों के लिए विशेष उपयोगी रहेगी।

इन्हें हुई स्कूटी स्वीकृत

     सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा अजमेर के 10 विशेष योग्यजनों को स्कूटी स्वीकृत की गई। इनमें कांकरिया भुणाभाय की विजयलक्ष्मी, नसीराबाद राजौसी की रूखसाना, किशनगढ खातोली के हुसैन मोहम्मद, सरवाड के पवन रेगर, ब्यावर जमालपुरा की सिमरन संघाडिया, हाथीखेडा फायसागर के पवन सिंह रावत, सावर कालाखेत के ओम प्रकाश एवं दीपक मीणा, हरमाडा बुहारू के गिरीराज गुर्जर तथा नसीराबाद धोला दाता न्यारा के सुरेन्द्र सिंह शामिल है।

उपनिदेशक चौबीसा सम्मानित

     सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के शासन सचिव डॉ. समित शर्मा के द्वारा अजमेर जिले में विभाग के उप निदेशक प्रफुल्ल चन्द्र चौबीसा को दिव्यांगों को अंग उपकरण वितरण के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर सम्मान पत्र प्रदान किया गया था। इसे डॉ. श्रीगोपाल बाहेती,  शक्ति प्रताप सिंह तथा एडीएम कैलाश चन्द्र शर्मा ने प्रफुल्ल चन्द्र चौबीसा को प्रदान कर सम्मानित किया। शासन सचिव डॉ. समित शर्मा ने जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित के द्वारा विशेष योग्यजन की योजनाओं में कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरण वितरण कार्य को प्रोत्साहित करने के कार्य की सराहना की। इसी प्रकार विभाग ने सीफार संस्था को भी सम्मानित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *