पुष्कर रोड़ पर एक और बॉटल नैक खत्म।

Social Share

रीजनल कॉलेज तिराहे पर राह हुई आसान

सड़क 12 मीटर चौड़ी होने से होगी राहगीरों को आसानी

अजमेर, 25 नवम्बर। पुष्कर रोड़ पर रीजनल कॉलेज तिराहे के पास स्थित बॉटल नैक खत्म होने से राहगीरों को आसानी होगी।

     अजमेर विकास प्राधिकरण के आयुक्त अक्षय गोदारा ने बताया कि रिजनल कॉलेज तिराहे से फॉयसागर चोकी होते हुए शहर में आने के मुख्य मार्ग में एक स्थान पर बॉटल नैक थी। इस कारण यातायात का दबाव तिराहे पर आ रहा था। कई बार दुर्घटना भी हो जाती थी। तिराहे के पास ही आदर्श विद्यालय का भवन स्थित है। इसके परिसर के पास सिवरेज ट्रीटमेन्ट प्लांट तथा लेक फ्रंट विकसित किया गया है। मुख्य सड़क की चौड़ाई धीरे-धीरे समय के साथ बढ़ गई। विद्यालय की चार दिवारी के कारण सड़क केवल 180 फीट की दूरी पर 7.60 से 8 मीटर ही रह गई थी। इस कारण दुर्घटना की आशंका बनी रहती थी।

     उन्होंने बताया कि एडीए द्वारा शहर में विभिन्न स्थानों पर स्थित बॉटल नेक को खत्म करने पर विशेष जोर दिया जा रहा है। इस क्रम में रिजनल कॉलेज तिराहे के पास स्थित आर्दश विद्या मंदिर विद्यालय के सामने बॉटल नैक को खत्म करवाने के लिए प्रयास किया गया। विद्यालय प्रशासन तथा प्रबंधकों से इस सम्बन्ध में चर्चा की गई। उन्होंने सकारात्मकता के साथ सहयोग किया। इससे विद्यालय की चार दिवारी को 15 फीट पीछे करने पर सहमति बनी। इसके साथ ही चार दिवारी को पीछे करने का कार्य आरम्भ हो गया। दीवार के साथ बनी प्याऊ को हटाया गया। विद्यालय ने यह भूमि निःशुल्क दी है।

     उन्होंने बताया कि इस बॉटल नैक के खत्म हो जाने से पूरी सड़क 12 मीटर से चौड़ी हो गई। दोनों तरफ बराबर चौड़ी हाने से राहगीरों को आसानी रहेगी। साथ ही पैदल चलने वालों को भी सुगम रास्ता मिलेगा। रीजनल कॉलेत तिराहा अजमेर शहर के व्यस्तम चौराहों में से एक है। मेड़ता, नागौर और पुष्कर से जाने का मुख्य मार्ग होने के कारण यातायात का दबाव रहता है। बॉटल नैक के कारण वाहनों को घुमाव लेकर निकलना पड़ता था। अब उन्हें इससे निजात मिलेगी।

     उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी आनासागर चौपाटी से जीमॉल के बीच देवनारायण मन्दिर के आगे नाला शिफ्ट करने से चौपाटी से वैशालीनगर की राह सुगम हुई है। इसी प्रकार अन्य स्थानों पर बॉटल नेक को समाप्त करने के लिए प्रयास किए जा रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *