अजमेर डिस्कॉम

Social Share

बिल जमा नहीं कराया तो कटेगा कनेक्शन

अफसरों को दी जिम्मेदारी, हर स्तर का अफसर काटेगा कनेक्शन

उपभोक्ताओं पर 1399 करोड़ रूपए का भुगतान बकाया

26 से 30 नवम्बर तक चलेगा राजस्व वसूली का विशेष अभियान

अजमेर, 22 नवम्बर। अजमेर विद्युत वितरण निगम द्वारा बकाया बिल भुगतान के लिए शुक्रवार से सख्ती शुरू कर दी जाएगी। बिल जमा नहीं कराने वालों के कनेक्शन काटे जाएंगे। इसके लिए प्रत्येक स्तर के अधिकारी को प्रतिदिन कनेक्शन काटने या राजस्व वसूली लाने का लक्ष्य सौंपा गया है। निगम के क्षेत्राधीन 12 वृत्तों में उपभोक्ताओं पर 1399 करोड़ रूपए का भुगतान बकाया है। निगम द्वारा 26 से 30 नवम्बर तक राजस्व वसूली का विशेष अभियान चलाया जाएगा।

     अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्.वी.एस. भाटी ने बताया कि डिस्कॉम की सभी श्रेणियों के उपभोक्ताओं पर चल रही बकाया राशि 1399 करोड़ रुपयों की वसूली के लिए अधिकारियों के लक्ष्य तय किए गए हैं। निगम का विशेष अभियान दिनांक 26 से 30 नवम्बर तक चलाया जाएगा। भाटी ने बताया कि इस अभियान के तहत डिस्कॉम के सभी मुख्य अभियंताओं से लेकर कनिष्ठ अभियंता तक एवं मुख्य लेखाधिकारी, वरिष्ठ लेखाधिकारियों एवं वृत्त लेखाधिकारियों को राजस्व वसूली करने के लिए प्रतिदिन के लक्ष्य निर्धारित किए गए है।

     भाटी ने बताया कि लक्ष्य के अनुसार कनिष्ठ अभियंता, सहायक अभियंता एवं अधिशासी अभियंताओं को प्रतिदिन अभियान के दौरान 5000 से अधिक बकाया वाले उपभोक्ताओं के कम से कम 20 कनेक्शन काटने होंगे या उनसे बकाया वसूली करनी होगी। अधीक्षण तथा मुख्य अभियंताओं को भी प्रतिदिन अभियान के दौरान अपने क्षेत्राधीन सबसे अधिक बकाया वाले 10 उपभोक्ताओं के विद्युत कनेक्शन काटने के निर्देश दिए है। कमर्शियल एवं मीटर विंग के अधिकारियों को औद्योगिक उपभोक्ताओं से बकाया राजस्व वसूली के निर्देश दिए है। उन्होंने सचिव प्रशासन को भी निर्देश दिए कि वे अपने समकक्ष अधिकारियों से समन्वय कर सरकारी विभागों से भी राजस्व की वसूली करे।

     भाटी ने तकनीकी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अतिरिक्त सभी वरिष्ठ लेखाधिकारियों एवं लेखाधिकारियों को भी निर्देश दिए है कि वे भी तकनीकी कर्मचारियों को अपने साथ ले जाकर बकाया वाले उपभोक्ताओं से राजस्व की वसूली करे या उनके कनेक्शन काटे। भाटी ने बताया कि बकाया राशि वसूली के अभियान में किसी तरह की लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी। अभियान के दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे प्रतिदिन की दैनिक प्रगति रिपोर्ट एमडी सेल तथा मुख्य लेखाधिकारी को भेजी जाए।

कहां कितना बकाया

  • अजमेर शहर सर्किल का 32.75 करोड़
  • अजमेर जिला सर्किल का 40 करोड़
  • भीलवाड़ा सर्किल का 51.06 करोड़
  • नागौर सर्किल का 433.65 करोड़
  • झुंझुंनू सर्किल का 126.16 करोड़
  • सीकर सर्किल का 103.03 करोड़
  • बांसवाडा सर्किल का 118.40 करोड़
  • डूंगरपुर सर्किल का 27.35 करोड़
  • चितौडगढ सर्किल का 200.02 करोड़
  • प्रतापगढ सर्किल का 66.09 करोड़
  • राजसमंद सर्किल का 59.38 करोड
  • उदयपुर सर्किल का 141.10 करोड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *